आंध्र प्रदेश की बजाय चक्रवाती तूफान 'वरदा' 12 दिसम्बर 2016 को उत्तर तमिलनाडु के तट से टकराया। तूफान के प्रभाव से इन तटीय जिलों में तेज हवा और भारी बारिश से सैकड़ों पेड़ और

दुनियाभर में महामारी का रूप धारण कर चुके डायबिटीज को नियंत्रित करना संभव हो सकेगा। स्विट्जरलैंड के वैज्ञानिकों ने इंसुलिन के स्राव और शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने में सक्षम

हुदहुद, कटरीना, लीजा, लैरी, बुलबुल, पैलिन जैसे चक्रवाती तूफानों के नाम हमने सुने हैं। तमिलनाडु को घेरे खड़ा वरदा भी इनमें से एक है जिसका मतलब लाल गुलाब होता है। तबाही मचाने के

पानी पर चलने वाली भारत की पहली बस का शुभारंभ 12 दिसम्बर 2016 को हो गया। करीब साढ़े चार करोड़ की लागत इस बस में एक बार में 32 सैलानी, चालक व एक कमांडर के बैठने की