बिहार में एक्यूट एंसिफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से हो रही बच्चों की मौत का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। सुप्रीम कोर्ट मे एक जनहित याचिका दाखिल हुई जिसमें राज्य और केन्द्र सरकार को इलाज के पुख्ता इंतजाम करने का निर्देश दिये जाने की मांग की गई है। इस याचिका पर कोर्ट से शीघ्र सुनवाई की मांग भी हो सकती है।
 
 
क्या है 
  1. दाखिल जनहित याचिका मे कहा गया है कि बिहार सरकार बीमारी को फैलने से रोकने में नाकाम रही है इसलिए कोर्ट और केन्द्र सरकार मामले में दखल दे। कहा गया है कि बिहार सरकार और केन्द्र सरकार को निर्देश दिया जाए कि वह प्रभावितों के इलाज के लिए बिहार मे करीब 500 आईसीयू और मोबाइल आइसीयू की व्यवस्था करे।
  2. बिहार सरकार को निर्देश दिया जाए कि वह आदेश जारी करे जिसमें निजी अस्पतालों को बीमार बच्चो का मुफ्त में इलाज करने को कहा जाए। यह भी मांग की गई है कि इस बीमारी से जिन बच्चों की मौत हो गई है उनके पीडि़त परिवारों को मुआवजा दिया जाए।
  3. बिहार में एक्यूट एंसिफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) ने महामारी का रूप धारण कर लिया है और अभी तक सौ से ज्यादा बच्चों की जान इस बीमारी से जा चुकी है। 

[printfriendly]