वैज्ञानिकों ने एक ऐसी खून की जांच विकसित की है जो मलेरिया की सटीक पहचानकर सकती है। यह मौजूदा विधियों की तुलना में बहुत तेजी से जांच करने में सक्षम है।

शोधकर्ताओं के अनुसार, इस संक्रामक बीमारी से सबसे बड़ी समस्या इसकी जल्दी और भरोसेमंद पहचान करने में आती है।