खेल की दुनिया में एथलीट हिमा दास ने चेक गणराज्य में आयोजित ट्रैक एंड फील्ड प्रतिस्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने का सिलसिला बरकरार रखा है। 21 दिन के अंदर छह स्वर्ण पदक जीतकर जो कारनामा हिमा ने कर दिखाया है, वह इतिहास बन गया है। सब जानना चाहते हैं इस असाधारण उपलब्धि का राज क्या है? वह गत वर्ष जकार्ता एशियन गेम्स से पहली बार दुनिया की नजरों में आई और आज बन गई हैं हर किसी की आंखों का तारा। यह 18 वर्षीय किशोरी अपने प्रदर्शनों से चौंका रही है। अपने हमउम्र एथलीटों के साथ-साथ सबकी प्रेरणा बन गई हैं।
 
 
क्या है 
  1. जकार्ता एशियन गेम्स में राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ते हुये उसने रजत पदक जीता था, लेकिन इस साल चेक गणराज्य में आयोजित ट्रैक एंड फील्ड प्रतिस्पर्धा में 21 दिन के अंदर छह स्वर्ण पदक जीतकर जो कारनामा हिमा ने कर दिखाया है, वह सामान्य बात नहीं। 
  2. इस प्रतियोगिता के दौरान हिमा ने 400 मीटर की दौड़ में 51.46 सेकंड का समय निकालकर स्वर्ण पदक जीता है और वह ये उपलब्धि हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला एथलीट बन गई हैं।