रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) 42 स्थानों की छलांग के साथ फॉर्च्यून ग्लोबल 500 लिस्ट में भारत की सबसे ऊंची रैंकिंग वाली कंपनी बन गई है। आरआईएल मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली कंपनी है। अब तक इस लिस्ट में इंडियन आयल कॉरपोरेशन (आईओसी) को फॉर्च्यून 500 इंडिया लिस्ट में जगह मिली थी और वह पहले स्थान पर थी। फॉर्च्यून ने कहा, 'इस साल रिलायंस इंडस्ट्रीज ग्लोबल 500 की लिस्ट में 106वें स्थान पर है। यह आईओसी से आगे निकल गई है जो 117वें पायदान पर है। 
 
 
क्या है 
  1. वर्ष 2019 में रिलायंस इंडस्ट्रीज की आमदनी 32.1 फीसद बढ़कर 82.3 अरब डॉलर पर पहुंच गई, जो 2018 में 62.3 अरब डॉलर थी। वहीं दूसरी ओर आईओसी का मुनाफा इस दौरान 17.7 फीसद बढ़कर 65.9 अरब डॉलर से 77.6 अरब डॉलर हो गई।
  2. फॉर्च्यून ने कहा कि पिछले दस साल के दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज की आमदनी में सालाना 7.2 फीसद की वृद्धि दर्ज हुई है। 2010 में यह 41.1 अरब डॉलर थी। 
  3. वहीं इस अवधि में आईओसी की आमदनी सालाना आधार पर 3.64 फीसद बढ़ी है। 2010 में यह 54.3 अरब डॉलर थी। फॉर्च्यून की लिस्ट में रिलायंस इंडस्ट्रीज और आईओसी के अलावा अन्य भारतीय कंपनियों में ऑयल ऐंड नैचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी), भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई), टाटा मोटर्स, भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लि. (बीपीसीएल) और राजेश एक्सपोर्ट्स शामिल हैं।
  4. ओएनजीसी इस लिस्ट में 37 पायदान की छलांग के साथ 160वें स्थान पर है। एसबीआई 20 स्थान नीचे चली गई है और उसे 236वां स्थान मिला है। 
  5. टाटा मोटर्स को 33 स्थानों का नुकसान उठाना पड़ा है और यह 265वें स्थान पर है। बीपीसीएल 39 पायदान छलांग लगाकर 275वें स्थान पर पहुंची है। 
  6. वहीं राजेश एक्सपोर्ट्स 90 स्थान खिसककर 495वें पायदान पर है। अमेरिका की दिग्गज कंपनी वॉलमार्ट फॉर्च्यून 500 लिस्ट में टॉप पर बनी हुई है।