राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण बिल (संशोधन) 2019 को राज्यसभा में सर्वानुमति से मंज़ूरी दी गई। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा दुनिया में जहाँ भी भारतीयों के खिलाफ आतंकवादी हमला होगा, एनआईए जांच कर सकेगी। श्री अमित शाह ने कहा आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करने वाली एजेंसी को और ताकत देने की बात हो तो सदन को एक मत होना चाहिये और इस पर किसी प्रकार की राजनीति नहीं होनी चाहिये। सदन को आश्वस्त करते हुए गृह मंत्री ने कहा नरेंद्र मोदी सरकार एनआईए का कभी दुरुपयोग नहीं करेगी।
 
 
क्या है 
  1. श्री शाह ने कहा कि एनआईए की कार्यकुशलता पर सवाल नहीं उठाना चाहिए क्‍योंकि 30.06.2019 तक एनआईए ने 272 केस रजिस्‍टर किए हैं। उनमें से 199 पर चार्जशीट दाखिल की जा चुकी है। 51  मामलों में फैसला सुनाया जा चुका है जिनमें 46 मामलों में अभियुक्‍तों को सजा हुई है।
  2. श्री अमित शाह ने सदन में कहा समझौता ब्लास्ट में कुछ लोगों को पकड़ा गया था, भारत के अलावा अमेरिकन एजेंसियों ने भी कहा कि इन लोगों ने समझौता ब्लास्ट किया किंतु पकड़े गए लोगों को छोड़ा गया, उसके बाद कुछ निर्दोष लोगों को पकड़ा गया। क्या इन निर्दोष लोगों तथा उनके परिवारों के मानव अधिकार नहीं थे ?

Print Friendly, PDF & Email