डायरेक्टरेट जनरल ऑफ हाइड्रोकार्बन्स (डीजीएच) द्वारा 32 तेल व गैस ब्लॉक की नवीनतम नीलामी की गई है जिसमें सबसे ज्यादा 12 ब्लॉक सरकारी कंपनी ऑयल इंडिया लिमिटेड (ओआइएल) के खाते में आ रहे हैं। इस नीलामी के अनुसार सरकारी कंपनी ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) तथा निजी क्षेत्र की वेदांता लिमिटेड को नौ-नौ तेल व गैस ब्लॉक मिलना तय है। वहीं शेष एक ब्लॉक रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड और उसकी ब्रिटिश सहयोगी बीपी पीएलसी के हिस्से में आ रहा है। 
 
क्या है 
  1. डीजीएच ने हालिया नीलामी के तहत जिन 32 तेल व गैस ब्लॉक के लिए बोली मंगाई थी, उनके मूल्यांकन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। इसके हिसाब से सरकारी कंपनी ओएनजीसी और खनन दिग्गज अनिल अग्रवाल नियंत्रित वेदांता लिमिटेड को नौ-नौ ब्लॉक मिलेंगे। सरकारी कंपनी ओआइएल के खाते में 12 ब्लॉक आने वाले हैं। 
  2. वहीं, रिलायंस-बीपी को केजी बेसिन में एक ब्लॉक मिलेगा। विजेताओं की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी (सीसीईए) के अनुमोदन के बाद की जाएगी।
  3. ओपन एक्रिएज लाइसेंसिंग पॉलिसी (ओएएलपी) के दूसरे चरण में पहले 14 और फिर 18 तेल व गैस ब्लॉक तथा तीसरे चरण में पांच ब्लॉक की बोली प्रक्रिया 15 मई को समाप्त हो चुकी थी। 
  4. आठ वर्षो में पहली बार रिलायंस-बीपी ने केजी बेसिन के एक ब्लॉक के लिए बोली लगाई। यह ब्लॉक पहले ओएनजीसी के पास था।

[printfriendly]