देश के सबसे बड़े विमानवाहक पोत INS विक्रमादित्य पर आग लगने से नौसेना के एक अफसर की मौत हो गई। आग उस समय लगी जब यह पोत कर्नाटक के कारवार बंदरगाह पहुंच रहा था। भारतीय नौसेना की ओर से बताया गया है कि लेफ्टिनेंट कमांडर डीएस चौहान के नेतृत्व में पोत पर लगी आग को बुझाने का प्रयास किया जा रहा था। 
 
क्या है 
  1. क्रू के फौरन ऐक्शन की बदौलत पोत को ज्यादा नुकसान नहीं हुआ। हालांकि इस दौरान आग और धुएं के चलते लेफ्टिनेंट कमांडर अचेत हो गए।  
  2. नौसेना के अधिकारी को फौरन कारवार स्थित नेवल हॉस्पिटल ले जाया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। नेवी ने एक बयान में बताया कि कुछ समय बाद ही शिप के क्रू ने आग पर काबू पा लिया। अच्छी बात यह रही कि शिप की लड़ाकू क्षमता को कोई गंभीर नुकसान नहीं पहुंचा है। 
  3. नौसेना ने आईएनएस विक्रमादित्य में लगी आग की घटना की छानबीन के लिए ‘बोर्ड ऑफ एन्क्वॉयरी’ के आदेश भी दे दिए हैं।

Print Friendly, PDF & Email