पेट्रोटेक - 2019 को भारत का प्रमुख हाइड्रोकार्बन सम्मेलन माना जाता है। भारत सरकार के पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तत्वावधान में पेट्रोटेक -2019 यानी 13वां अंतर्राष्ट्रीय तेल और गैस सम्मेलन और प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है। 10 से 12 फरवरी 2019 तक आयोजित इस तीन दिवसीय वृहद कार्यक्रम में  भारत के तेल और गैस क्षेत्र में हाल के बाजार और निवेशकों के अनुकूल विकास को दर्शाया जाएगा। 
 
क्या है 
  1. पेट्रोटेक - 2019 में साझेदार देशों के 95 से अधिक ऊर्जा मंत्रियों और लगभग 70 देशों के 7000 प्रतिनिधियों के शामिल होने की संभावना है।
  2. सम्मेलन के साथ-साथ,  इंडिया एक्सपो मार्ट, ग्रेटर नोएडा में 20,000 वर्ग मीटर में फैली एक प्रदर्शनी भी आयोजित होगी। पेट्रोटेक -2019 प्रदर्शनी में मेक इन इंडिया और अक्षय ऊर्जा थीम पर विशेष क्षेत्रों के साथ-साथ 40 से अधिक देशों के 13 से अधिक देशी मंडप और लगभग 750 प्रदर्शक शामिल होंगे।
  3. प्रधानमंत्री ने पिछले 5 दिसंबर, 2016 को  पेट्रोटेक - 2016 के 12वें आयोजन का उद्घाटन किया था।
  4. प्रधानमंत्री ने ग्लोबल हाइड्रोकार्बन कंपनियों को भी मेक इन इंडिया में आने का न्योता दिया और उन्हें भरोसा दिलाया कि हमारा मकसद रेड टेप के स्थान पर रेड कारपेट तैयार करना है।

Print Friendly, PDF & Email