प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की स्मृति में 24 दिसम्बर 2018 को संसद भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में सौ रुपये का स्मारक सिक्का जारी किया। इस मौके पर वाजपेयी के साथ काफी लंबे समय तक रहने वाले उनके सहयोगी और वरिष्ठ भाजपा नेता लाल कृष्ण आडवाणी, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, वित्त मंत्री अरुण जेटली, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और अटल बिहारी वाजपेयी के परिजन भी मौजूद थे। वाजपेयी की जयंती 25 दिसंबर को सुशासन दिवस के रूप में मनाया जाएगा। पिछले वर्ष वित्त मंत्रालय ने 100 रुपए के नए सिक्के के बारे में एक अधिसूचना जारी की थी।
 
क्या है 
  1. इस सिक्के का वजन 35 ग्राम और त्रिज्या (रेडियस) 2.2 सेंटीमीटर है और यह 50 पचास प्रतिशत चांदी, 40 प्रतिशत तांबा, पांच प्रतिशत निकेल और पांच प्रतिशत जस्ते से बनाया गया है। 
  2. सिक्के के फ्रंट (सामने की ओर) पर बीच में अशोक स्तम्भ है, जिसके नीचे 'सत्यमेव जयते' लिखा है। 
  3. वृत्त पर बायीं ओर 'भारत' और दाहिनी ओर अंग्रेजी में 'इंडिया' लिखा है तथा अशोक स्तम्भ के नीचे रुपये का प्रतीक चिह्न और अंग्रेजी के अंक में '100' अंकित है।
  4. सिक्के के पीछे की तरफ वाजपेयी का चित्र है। ऊपर के वृत्त पर वायीं ओर देवनागरी में और दाहिनी ओर अंग्रेजी में 'अटल बिहारी वाजपेयी' लिखा है और वृत्त के निचले हिस्से में अंग्रेजी के अंकों में “1924” और “2018” मुद्रित है।
  5. वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को हुआ था और इस वर्ष 16 अगस्त को उनका निधन हो गया था। 

Print Friendly, PDF & Email