अमेरिका भारत के अलावा सात अन्य देशों को ईरान से तेल खरीदने की छूट देने पर राजी हो गया है। छूट प्राप्त करनेवाले देशों में जापान और दक्षिण कोरिया शामिल भी होंगे। ट्रंप प्रशासन के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी है। बता दें कि ईरान से तेल आयात पर नए सिरे से लग रही अमेरिकी पाबंदी 5 नवंबर से प्रभावी हो जाएगी। खबर है कि अमेरिका न्यूक्लियर डील पर ईरान से नए सिरे से बातचीत करना चाहता है, लेकिन ईरान इसके लिए तैयार नहीं है। 
 
क्या है 
  1. ईरान को बातचीत के लिए मजबूर करने के इरादे से ही अमेरिका ईरान की अर्थव्यवस्था को अस्त व्यस्त करना चाहता है और इसलिए उसने दुनिया के कई देशों को 4 नवंबर के बाद से ईरान से तेल आयात पर रोक लगाने की बात कही है।
  2. अमेरिका कुछ देशों को जरूर शर्त के साथ तेल आयात में छूट दे रहा है लेकिन, बताया जा रहा है कि जो देश ईरान से तेल आयात करेंगे वे धीरे-धीरे तेल खरीद की मात्रा घटाते रहेंगे। 
  3. ईरानी तेल का सबसे बड़ा आयातक चीन छूट पाने की शर्तों को लेकर अब भी अमेरिका से बातचीत कर रहा है। लेकिन भारत, जापान, दक्षिण कोरिया और चीन के अलावा छूट प्राप्त करनेवाले चार देश कौन से हैं, इसका खुलासा अभी नहीं हो पाया है।
  4. तेल बाजार को इस बारे में खबर मिलने के बाद कि अमेरिका कुछ देशों को तेल आयात में छूट दे रहा है पिछले महीने ग्लोबल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड का भाव 15 फीसद गिरकर 85 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। हालांकि अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि जिन देशों को ईरान से तेल खरदीने में छूट मिली है वह कितनी मात्रा में तेल का आयात कर सकते हैं। 

 

[printfriendly]