भारत और जापान ने 29 अक्टूबर 2018 को पहली बार भारतीय पारंपरिक चिकित्सा प्रणाली योग और आयुर्वेद के क्षेत्र में सहयोग करने का फैसला किया है। दोनों देश का मकसद इसके जरिये अपने नागरिकों को पूर्ण स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराना है। पीएम नरेंद्र मोदी की जापान यात्रा के दौरान भारत के आयुष मंत्रालय और कानागावा पर्फेक्चुअल गवर्मेंट के बीच समझौता पर हस्ताक्षर किया गया
 
क्या है   
  1. विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी बयान के अनुसार, 'यह समझौता उस समझौते का पूरक होगा जो स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय और जापान के स्वास्थ्य सेवा पॉलिसी ऑफिस और जापानी स्वास्थ्य मंत्रालय के बीच हुआ है। 
  2. इसका मकसद नैशनल हेल्थ प्रोटेक्शन मिशन के तहत चिह्नित किए गए क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ावा देना है, जैसे कि प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा, गैर-प्रसार वाली बीमारियों के रोकथाम, साफ-सफाई, पोषणण और बुजुर्गों का खयाल रखना आदि है।' 
  3. उल्लेखनीय है कि पीएम मोदी 13वें भारत-जापान शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए तोक्यो का दौरा कर रहे हैं।

 

Print Friendly, PDF & Email