English एक माध्यम है - बाधा नहीं

Hi, मुझसे कई बार लोग ये पूछते हैं कि क्या माध्यम का medium का असर होता है आपके final selection के उपर? क्या English ज़रूरी है कि माध्यम के रूप में प्रयोग किया जाए जिसके द्वारा हमारी success मिलने वाली है, वो sure हो जाएँ? मेरे विचार से अगर आप express कर सकते हैं आपकी अभिव्यक्ति आपकी किसी भी भाषा में जो कि exam में permitted है तो आपको उस पर विश्वास होना चाहिए। अच्छी english ही एक मात्र ऐसी guarantee नहीं है जिसके द्वारा आपका selection हो जाए। Content को ज़्यादा महत्व दिया जाता है UPSC के examination में form की जगह पर या medium की जगह पर। मैंने बहुत सारे ऐसे बच्चों को देखा है जो अलग अलग जगह पर दूसरे प्रांतिय भाषाओं से हिंदी से या तमिल से या दूसरी भाषाओँ से उन्होंने exam दिए है और अच्छे अंक प्राप्त किये हैं। हाँ एक difficulty इसमें यहाँ ये हो सकती है कि आपको content की कमी हो सकती है। But अगर आप english में पढ़ सकते हैं ये बहुत अच्छा combination हो सकता है जहाँ पर आप अपनी भाषा को तमिल, हिंदी या कोई और तेलुगु या उर्दू या कोई और भाषा का उपयोग करके आप अपने expression जो कि better हैं उसको प्रयोग कर सकते हैं। और मेरे विचार से अगर आपका expression आपकी भाषा में अच्छी है और english में पढ़ सकते हैं तो ये बहुत अच्छा कॉम्बिनेशन है। और english समझने के लिए आपको बहुत ज़्यादा चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। And कोई ऐसी दिक्कत नहीं है कि  आप अपनी दूसरी भाषा में exam को लिख कर के pass न कर पाएं। बिलकुल पास करते हैं और ऐसी अफवाहों पर जो लोग कहते हैं कि माध्यम की वजह से उनका चयन नहीं हो पाया आप बिलकुल ध्यान नहीं दे। और मेरे विचार से आपकी success सुनिश्चित हो सकती है यदि आप अपनी भाषा पर विश्वास करते हैं। My best wishes are with you.